एस डी जी

संयुक्त राष्ट्र संघ -सरकार, व्यवसायियों और सिविल सोसाइटी के साथ मिलकर 2030 तक सतत विकास के लक्ष्य को प्राप्त करना चाहता है. परिवर्तन स्वानुभाविक, समग्र ग्रामीण विकास में आस्था रखता है और विभिन्न समुदायों की ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए सबके बीच तालमेल स्थापित करने के लिए प्रयत्नशील है. इकोसिस्टम इसके केंद्र में है. समेकित सामुदायिक विकास की योजनाओं को सूत्रित और क्रियान्वित करने में यह एस डी जी के समानांतर काम करता है.

उत्कृष्ट शिक्षा

आजीवन, समावेशी और उत्कृष्ट शिक्षा का प्रबंध

जीवन के हर पड़ाव पर सभी के लिए, समावेशी और उच्च कोटि की शिक्षा उपलब्ध कराना महत्वपूर्ण लक्ष्य है. बच्चों पर केन्द्रित विविध तरीकों, सामग्री और तकनीकों के माध्यम से परिवर्तन का शिक्षण विभाग बच्चों(आयु वर्ग: 3-13 ) के सीखने और पढ़ने की योग्यता को समृद्ध करने का यत्न करता है.

लिंग भेद की समाप्ति

बराबरी के समाज का निर्माण-महिलाओं और लड़कियों का सशक्तिकरण

लिंग भेद की समाप्ति और बराबरी के समाज का सदस्य होना सबका मौलिक अधिकार है. यह दुनिया की शांति और समृद्धि के लिए भी ज़रूरी है. परिवर्तन स्थित महिला समाख्या महिलाओं के सबलीकरण की दिशा में काम कर रहा है. महिलाएं विकास की योजनाओं में सक्रिय भागीदार हों यह प्रयास जारी है.

साझेदारी

सतत विकास की प्रक्रिया के लिए वैश्विक गठबंधन को मजबूत करना

सतत विकास की योजनाओं की सफलता के लिए यह ज़रूरी है कि सरकार, निजी क्षेत्र और सिविल सोसाइटी की आपस में साझेदारी हो. सम्पूर्ण ब्रम्हांड और मनुष्य को केंद्र में रखते हुए विकास की सकारात्मक योजनाओं को समावेशी ढंग से क्रियान्वित किया जा सकता है. परिवर्तन साझेदारी और समर्थन में आस्था रखता है. अनेक गैर सरकारी संगठनों के साथ मिलकर और उनकी प्रवीणताओं को अपनी योजनाओं में शामिल कर परिवर्तन समग्र विकास की दिशा में काम कर रहा है.